Aarti Lakshmi Narayan Ki

लक्ष्मीनारायण आरती
आरती लक्ष्मीनारायण की
स्वर्णिम पीताम्बर हरि धारे, उज्जवल वसन प्रिया चित चोरे
माँ कमला कर धारे अम्बुज, कमल-नयन श्री विष्णु चतुर्भुज
अनुपम कांति प्रिया पे राजै, श्रीपति क्षीर-समुद्र विराजै
शंख चक्र अरु गदा पद्म कर, अनुपमेय शोभित हैं श्रीधर
श्री पीठा-स्थित माता मोहे, शेष शयन गरुड़ासन सोहे
मंजुल मूरति उज्जवल रूपा, सीता रूक्मिणि देवि स्वरूपा
योगी ॠषि-मुनि ध्यान लगाये, श्रियाश्लिष्ट हरि वश हो जायें
रमानाथ प्रभु भक्ति प्रदाता, परमानंद वैभव के दाता

Leave a Reply

Your email address will not be published.